Internal Hardware क्या है – What Is Internal Hardware In Hindi

मुख्य रूप से कंप्यूटर हार्डवेयर के दो भागो में बता गया है External Hardware और Internal Hardware आज हम इस लेख(Artical) में Internal Hardware के बारे में जानिगे कि Internal Hardware क्या है (What Is Internal Hardare In Hindi) और Internal Hardware में कौन-कौन से Device आते है

Internal Hardware क्या है

Internal Hardware Computer Hardware के वो Hardwares होते है जो कंप्यूटर के अंदर कि तरफ याने Computer के Cabinate होते है वह Compter के Internal Hardware कहलाते है

Internal का हिंदी में मतलब होता है अंदर का यह Device भी Computer के अंदर Fit होते है इसी वजह से यह Internal Hardware कहलाते है

Components Of Internal Hardware In Hindi

Internal Hardware में जो Devices होते है वह Processing और Primary Storage Devices होते है जिनके बारे में यह निचे बताया गया है:-

  • Processing Device
  • Primary Storage Device

Processing Device

Processing Device कंप्यूटर के वह Devices होते है जो Computer को दिए गए सभी कार्य को पूरा करने के लिए Processing करते है बिना Processing Devices के कंप्यूटर आपके दिए हुए Task को पूरा नहीं कर सकता

Some Examples Of Processing Devices / Processing Devices के कुछ उद्धरण:-

  1. Processor
  2. Motherboard

Processor = इसे CPU(Central Processinng Unit) के नाम से भी जाना जाता है यह कंप्यूटर का सबसे Powerfull Device माना जाता है यह Device एक साथ Trillions Of Calculations को एक साथ Calculate कर सकता है

Processor को कंप्यूटर का Brain भी कहा जाता है क्यों की Processor को कंप्यूटर में हो रही सभी गतिविधियों(Activities) का पता होता है और कंप्यूटर को Keyboard Or Mouse के जरिये हमारे दिए हुए Task या Order को कंप्यूटर Processor की ही मदत से पूरा कर पता है

Motherboard = यह एक Electronic Board होता है Processor इसी Motherboard में Fit होता है इसी Board की ही मदत से सभी Hardware Device एक दूसरे से Connected होते है जिसे कम्यूटर चल पाता है अगर हमरे कंप्यूटर के सभी जरुरी devices एक साथ अच्छे से connect न होतो हमारा कंप्यूटर काम नहीं करता है|

Primary Storage Device

Storage Device मतलब वो Devices जिसमे Data को Store/Save करा जाता है Storage Device को भी दो भागो में बता गया है पहला 1. Primary Storage Device और दूसरा Secondary Sturage Device

पर Secondary Storage Device कंप्यूटर का Main Hardware नहीं होता Secondary Device CD, Pendrive, DVD, SD Card जैसे Devices को कहा जाता है

Primary Storage Device को Primary Memory भी कहते है और यह कंप्यूटर के Main Storage Device होते है Primary Storage ROM और RAM को कहा जाता है

ROM का Fullform Read Only Memory है यह computer में लगी Harddisk और SSD को कहते है हमारे कंप्यूटर का O/S याने Oparating System भी इसी ROM में Store रहता है ROM में Data को लम्बे समाये तक Store करा जा सकता है पर यह Data Files को तेज़ी से Excess नहीं कर पाती याने यह Data Files को Processes करने के लिए तेज़ी से Processor तक नहीं पोहोचा सकता।

RAM = RAM का Fullform Randum Excess Memory है यह एक प्रकार की Microchip होती हैइसमें Data को लम्बे समय तक Store नहीं किया जा सकता पर इसकी Data Transfer की Speed ROM से बहुत तेज़ होती है RAM

हम ROM में अपने कंप्यूटर का सारा data जैसे Applications या Softwares को Store/Save करके रखते है पर जब हमें उस data को processes करना होता है जैसे हमें कंप्यूटर में save किसी software को run करना है तब ROM उस data files को तेज़ी से Processor तक नहीं पोहोचा पाता है इसी लिए Computer System को इस तरह बनाया गया है कि जब भी हम कंप्यूटर को किसी data को processes करना का instraction देते है तब RAM ROM में मौजूद उस data को तेज़ी से Excesses कर लेता है फिर उस data files को तेज़ी से Processor तक पहुंचा देता है ताकि Processor उस data files को Process कर के उस Software को Run कर सके

Conclution

आशा है इस लेख(Article) को पड़ने के बाद आपको पता चलगया होगा की Internal Hardware क्या है और इन्हे Internal Hardware क्यों कहा जाता है अगर आपके मन में अभी भी कोई सवाल हो तो आप Comment करके हम्स पूछ सकते हो

Hindiset का यह Article पड़ने के लिए आपका सुक्रिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *